Quotes

गुरु गोविन्द सिंह के 40+ अनमोल विचार | Guru Gobind Singh Quotes

गुरु गोविन्द सिंह के 40+ अनमोल विचार | Guru Gobind Singh Quotes

Guru Gobind Singh Quotes – हिम्मत, साहस, जोश और धर्म की राह दिखा कर गए सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोबिंद सिंह थे जिन्होंने खालसा पन्थ की स्थापना किया था, गुरु गोबिंद जी का जन्म 22 दिसम्बर 1666 को बिहार के पटना जिले में हुआ था. इनके पिता जी का नाम गुरु तेगबहादुर था जो सिखों के नौवें दसवें गुरु थे. गुरु गोविन्द सिंह महान धर्म गुरु होने के साथ साथ महान योद्धा, महान दार्शनिक, कवि, भक्त और आध्यात्मिक गुरु भी थे उनके सिखाए सबक आज भी सफलता की ओर अग्रसर करने वाले हैं…
आइये आज हम गुरु गोबिंद सिंह के अनमोल विचारों को जानते हैं.

गोविन्द सिंह के अनमोल विचार

—#1—

हमे सबसे महान सुख और स्थायी शांति तभी प्राप्त हो सकती है जब हम अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देते है

गुरु गोविन्द सिंह के 40+ अनमोल विचार | Guru Gobind Singh Quotes ! Guru Gobind Singh Ke 20 Anmol Vachan ! गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रेरक कथन,

—#2—

अगर आप केवल भविष्य के बारे में सोचते रहेंगे तो वर्तमान भी खो देंगे.

guru gobind singh quotes in hindi

guru gobind singh quotes in hindi


—#3—

मेरी बात सुनो जो लोग दुसरे से प्रेम करते है वही लोग प्रभु को महसूस कर सकते है

—#4—

जब आप अपने अन्दर से अहंकार मिटा देंगे तभी आपको वास्तविक शांति प्राप्त होगी.

—#5—

मैं उन लोगों को पसंद करता हूँ जो सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं.

—#6—

ईश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे काम करें और बुराई को दूर करें.

guru gobind singh quotes in hindi

guru gobind singh quotes in hindi


—#7—

भगवान स्वय उनके मार्ग बनाते है जो लोग अच्छाई का कर्म करते है

—#8—

इंसान से प्रेम ही ईश्वर की सच्ची भक्ति है.

—#9—

उन्ही लोगो का जीवन पूर्ण है जिनके अंदर भगवान के नाम की महसूस करते है

—#10—

अज्ञानी व्यक्ति पूरी तरह से अँधा होता है वह गहना के मूल्य की सराहना नही करता है बल्कि उसके चकाचौंध की तारीफ करता है

—#11—

अच्छे कर्मों से ही आप ईश्वर को पा सकते हैं. अच्छे कर्म करने वालों की ही ईश्वर मदद करता है.

—#12—

स्वार्थ ही अशुभ संकल्पों को जन्म देता है.

—#13—

जब इंसान के पास सभी तरीके विफल हो जाएं,
तब ही हाथ में तलवार उठाना सही है.

—#14—

जो कोई भी मुझे भगवान कहे, वो नरक में चला जाए.

—#15—

हर कोई उस सच्चे गुरु की जयजयकार और प्रशंसा करे जो हमें भगवान की भक्ति के खजाने तक ले गया है।

—#16—

निर्बल पर कभी अपनी तलवार चलाने के लिए उतावले मत होईये,
वरना विधाता आप का ही खून बहायेगा.

—#17—

सबसे ज्यादा सुख और अनंत शांति तब प्राप्त होती है जब कोई अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देता है.

—#18—

मृत्यु के शहर में, उन्हें बाँध कर पीटा जाता है, और कोई उनकी प्रार्थना नहीं सुनता है.

—#19—

भगवान के नाम के अलावा कोई मित्र नहीं है, भगवान के विनम्र सेवक इसी का चिंतन करते और इसी को देखते हैं।

गुरु गोबिंद सिंह के अनमोल वचन (Guru Gobind Singh Quotes in Hindi)

—#20—

हे ईश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूँ.

—#21—

उसने हेमशा अपने अनुयायियों को आराम दिया है और हर समय उनकी मदद की है.

—#22—

सचमुच वे गुरु धन्य है जिन्होंने भगवान के नाम को याद करना सिखाया

—#23—

मैं लोगो को के पैरो में गिरता हु जो लोग सच्चाई पर विश्वास रखते है।

Guru Gobind Singh Ji Thoughts

—#24—

सत्कर्म कर्म के द्वारा, तुम्हे सच्चा गुरु मिलेगा, और उसके बाद प्रिय भगवान मिलेंगे, उनकी मधुर इच्छा से, तुम्हे उनकी दया का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

—#25—

मैं उस गुरु के लिए न्योछावर हूँ, जो भगवान के उपदेशों का पाठ करता है।

—#26—

सेवक नानक भगवान के दास हैं, अपनी कृपा से, भगवान उनका सम्मान सुरक्षित रखते हैं.

—#27—

मुझे उसका सेवक मानो. और इसमें कोई संदेह मत रखो.

—#28—

ये मित्र संगठित हैं, और फिर से अलग नहीं होंगे, उन्हें स्वयम सृजनकर्ता भगवान् ने एक किया है.

—#29—

हमें उन अनुष्ठानों को और क्रियाकलापों को हटा देना चाइये, जो हमें भगवन की भक्ति से दूर ले जाएं

—#30—

दिन-रात, हमेशा ईश्वर का ध्यान करो.

—#31—

हर कोई उस सच्चे गुरु की जयजयकार और प्रशंसा करे जो हमें भगवान की भक्ति के खजाने तक ले गया है।