blogging

Backlink के प्रकार कोन कोन से होते है पूरी जानकारी !

backlink for seo in hindi
Written by hindipro

हर नया या पुराना ब्लॉगर Backlinks बनाने के लिए बहुत से नए नए तरीके आजमाता है जैसे की ब्लॉग कमेंटिंग, वेब डायरेक्टरी सबमिशन और सोशल मीडिया बुकमार्किंग. लेकिन सही जानकारी न होने से कई बार ब्लॉगर ऐसी गलती कर देते है जिससे उनकी वेबसाइट को स्पैम समज लिया जाता है और गूगल उनकी URL show नहीं करता है. तो आज मैं इस पोस्ट मैं आपको कुछ प्रकार बताने वाला हु जिससे आप समज सके की आपको किस तरह से backlink बनानी चाहिए

Natural Backlink क्या होती है?

Natural Backlink आपको सामने से मिलती है यानि के वो आर्गेनिक होती है जो आपको भी सायद से पता नहीं चलता है. इस प्रकार की बैकलिंक बनाने के लिए आपको अच्छा कंटेंट लिखना होता है अगर आपका कंटेंट किसी को पसंद आता है तो वो आपके उस पोस्ट की लिंक अपने वेबसाइट मैं रख कर आपको backlink देता है.

Natural Backlink किसे नहीं कहते है?

आप पैसे दे कर जो बैकलिंक प्राप्त करते है
JavaScript से redirect होती है लिंक
Monetization कर रहे है आप जिस लिंक का

उप्पर दी गयी लिस्ट के अनुसार आप लिंक बना रहे है उसको नेचुरल बैकलिंक नहीं बोलते है.

Unnatural Backlink क्या होती है?

अगर आप पैसे देकर लिंक बना रहे है और खुद ब्लॉग कमेंटिंग या दूसरी तरह से लिंक बना रहे है उसको Unnatural Backlink कहते है. इस तरह की लिंक do follow हो तो गूगल तुरंत एक्शन लेता है और आपकी वेबसाइट को banned भी कर सकता है. आपको सावधान रहना चाहिए क्युकी आपको banned होने के बाद बहुत नुकशान होता है.

Unnatural Backlink कैसे बनती है?

अगर आप पैसे देकर किसी से बहुत सी बैकलिंक्स बनवाते है तो तो वो Natural Backlink नहीं होती है. कुछ बार सर्च इंजन को भी पता नहीं चलता है की ये Natural बैकलिंक है या Unnatural है. इस सब से यही साबित होता है की नेचरल बैकलिंक्स ही अच्छी होती है.

Quality Backlinks किसे कहते है?

इस प्रकार की Backlinks आपको High Quality वाली वेबसाइट से आती है जिसका पेज रैंक और डोमेन अथॉरिटी अच्छा होता है. यहाँ पर मैंने आपको कुछ Points दिए है जिससे आप इस प्रकार की लिंक को पहचान सकते है की ये लिंक Quality Backlink है या नहीं है.

आपके रेलेटेड वेबसाइट से लिंक आती हो और वो वेबसाइट रेगुलर अपडेट होता हो.
आपके वेबसाइट से किसी एडल्ट, स्पैम वेबसाइट और इललीगल वेबसाइट पर Outbound लिंक ना दिया हो.
गूगल न्यूज़ फीड मैं आपकी वेबसाइट को देखना ये भी अच्छा संकेत है.
दूसरी की वेबसाइट के बॉडी के पार्ट से आ रही हो नहीं क कमेंट सेक्शन से.

उप्पर दिए गए सभी points ये बताते है की अगर आप इस तरह से बैकलिंक पाते है तो वो Quality Backlinks मैं आता है. SEO के हिसाब से भी बहुत अच्छा होता है और ये Off page SEO मैं आता है.

बैकलिंक्स के फायदे कोनसे होते है

सबसे पहेली बात अगर आपके वेबसाइट को High पेज रैंक और ऊँची डोमेन ऑटोरिटी वाले वेबसाइट से आपको लिंक प्राप्त होता है तो इससे आपको बहुत profit होता है. कोय बड़ा ब्लॉगर आपको उसकी वेबसाइट मैं मेंशन करता है तो आपको Traffic भी ज्यादा मिलता है. यहाँ पर मैंने थोड़े फायदे बताये है आपको:

Off page SEO मैं बहुत अच्छा समजा जाता है.
Alexa Rank भी बढ़ता है आपका.
Referral Traffic मिलता है.
अगर ब्लॉग कमेंटिंग करते है तो अच्छे रिलेशन बनते है दूसरे ब्लॉगर से.
Search Engine मैं अच्छा प्रभाव होता है.

बैकलिंक्स कैसे बनाते है?

बैकलिंक्स बनाने के बहुत से तरीके है लेकिन आप यहाँ पर मैं आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहा हु जिससे आप अच्छी बैकलिंक्स बना सके:

वेब डायरेक्टरी सबमिशन करे
अपने जैसी दूसरी वेबसाइट मैं कमेंट करे और वह पर अपनी वेबसाइट की लिंक दे.
सोशल मीडिया बुकमार्किंग करे.
गेस्ट पोस्ट लिखे.

वेब डायरेक्टरी सबमिशन के लिए आप इंडीब्लॉगर वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते है. यहाँ से आपको बहुत फायदा होगा.

जरूर धयान मैं रखे: आप कम रैंक वाली वेबसाइट से बैकलिंक ना ले वो आपके कोय काम की नहीं होती है.

उप्पर बताई गयी सभी बातो से ये निष्कर्ष निकलता है की अगर आपके पास 1000 बैकलिंक्स है लेकिन वो कम रैंक या कम डोमेन अथॉरिटी वाली वेबसाइट से आती है तो उसका कोय मतलब नहीं है. मगर आपके पास सिर्फ 100 बैकलिंक्स है और वो High Quality वेबसाइट से आती है तो वो बहुत कम की होती है. इससे आपको जरूर फायदा होता है.

अगर दोस्तों आपको हमारी ये जानकारी पसंद आती है तो आप अपने दोस्तों के जरूर शेयर करे और कोय भी प्रॉब्लम हो तो कमेंट जरूर करे हम आपको पॉसिबल सोल्युशन जरूर देंगे.

About the author

hindipro